6 ग्राम ड्रग्स पर बवाल और 21 हजार करोड़ पर चुप्पी, बंद कराया जाए अडानी का बंदरगाह – राकेश टिकैत

बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने आर्यन खान ड्रग्स मामले पर गौतम अडाणी पर हमला बोला है। टिकैत ने कहा कि छह ग्राम ड्रग्स पाए जाने पर बवाल मचा हुआ है, जबकि हजारों करोड़ के ड्रग्स का मुद्दा गायब हो गया है। इस दौरान टिकैत ने अडाणी के मुंद्रा पोर्ट को बंद किए जाने की भी मांग रखी है।

किसान नेता राकेश टिकैत ने आर्यन खान मामले पर, शाहरुख के सपोर्ट में उतरते हुए बीजेपी और मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि ’21 हजार करोड़ का ड्रग्स है, उसका पता नहीं चला कि उसका मालिक कौन था? 21 हजार करोड़ का ड्रग्स भारत में वो ला सकता है, जो भारत में नंबर एक, नंबर दो और नंबर तीन होंगे। जो अमीर लोग होंगे। वो ड्रग्स पर इतना पैसा खर्च कर सकता है।’

उन्होंने कहा कि अडानी के पोर्ट से मिली है, तो उसको पकड़ना चाहिए। दबाओगे क्या मुद्दे को? कहां गए वे ड्रग्स? आगे उन्होंने कहा कि छह ग्राम मिली तो उसपर हंगामा हो गया। 21 हजार करोड़ रुपये का ड्रग्स पकड़ा गया, उसका पता नहीं चल रहा। पोर्ट को बंद करना चाहिए, उसकी तलाशी लेनी चाहिए। कहां से मिली, उसकी जांच होनी चाहिए। किसकी हो सकती है, उसकी जांच होनी चाहिए।

गौरतलब है कि टिकैत उस ड्रग्स की खेप की बात कर रहे थे, जो मुंद्रा पोर्ट पर पकड़ा गया था। गुजरात के मुंद्रा पोर्ट से तकरीबन 21 हजार करोड़ की हेरोइन बरामद की गई थी। मुंद्रा पोर्ट का संचालन अडाणी समूह करता है। इस मामले पर अडाणी समूह ने अपने बयान में कहा था कि हेरोइन के कंटेनर मुंद्रा बंदरगाह पर डीपी वर्ल्ड टर्मिनल पर पहुंचे थे। देश भर में कोई भी पोर्ट ऑपरेटर कंटेनर की जांच नहीं कर सकता है। उनकी भूमिका बंदरगाह चलाने तक सीमित है। सीमित अधिकारों के चलते संचालकों के हाथ बंधे होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here